Menu Close

Ghoor Ghoor Ke Lyrics in Hindi

Ghoor Ghoor Ke Lyrics in Hindi

[यूँ ना देखो साँवरिया घूर घूर के]x४

Apple Store - Buy Now

जब मेरी शरण में आता है
एक प्रेम का दीप जलाता है
फिर तुझको कुछ ना भाता है
तू बस मेरा हो जाता है

नहीं प्रेम से बढ़कर, राजपाठ
सिंहहसन और ये लोकलाज
ढोल लगते सुहाने हैं दूर दूर के

[यूँ ना देखो साँवरिया घूर घूर के]x४

कोई मढ़ इतना भी मदिर नहीं
जितनी मेरी अंगड़ाई है
हर रूप मेरा तुझको पुलकित
मेरा रोम-रोम पुरवाई है

ధనవంతుల ఆలోచనలు - Buy Now

तू प्रेम नगर का वासी
मैं प्रेम नगर की रानी
हाय मैंने पूरे पकाए हैं पुर पुर के

[यूँ ना देखो साँवरिया घूर घूर के]x४

मोरे नैन कमले कोमल चंचल
मेरी चित्तबन घटा निराली है

Ghoor Ghoor Ke Lyrics in Hindi

Like and Share
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

5G Mobiles - Buy Now

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker

Refresh Page
x

Subscribe for latest updates

Loading

Krithi Shetty Cute Images Rashi Khanna Images HD Tamannaah Bhatia Sri Satya Images Samantha Images