Ek Chatur Naar Lyrics in Hindi - Telugu Bucket
Menu Close

Ek Chatur Naar Lyrics in Hindi

Ek Chatur Naar Lyrics in Hindi

तेरे रे ने ने नु.. (आलाप)
एक चतुर नार कर के सिंगार
एक चतुर नार कर के सिंगार
मेरे मन के द्वार ये घुसत जात
हम मरत जात अरे हे हे हे..
चतुर नार कर के सिंगार
बरसा
ग ग ग नी नी सा..
चतुर नार कर के सिंगार

उ धाम, उ धाम, उ धाम धाम धाम धाम
अय्यो..
हम्म ब्रुम.. हम्म ब्रुम..
हम्म आ.. आ.. ए ए इ उ ए
अई ओ अम आह
हम नम नम नम नम नम नम
नम नम लम लम लम लम ला
हम्म बल बल बल बल रे
बल बल बल बल रे
बल बल बल बल रे

एक चतुर नार बड़ी होशियार
एक चतुर नार बड़ी होशियार
अपने ही जाल में फसत जात
हम हँसत जात अरे हं हं हं हं हं
एक चतुर नार बड़ी होशियार

तू क्यूँ , छी रे

तू क्यूँ गोरी ज्ञान तेरे
करे लाख-लाख दुनिया चतुराई
छुट्टी कर दूँगा मैं उसकी
अबके जो आवाज़ लगाई
छुट्टी कर दूँगा आ आ

तात जम ताका जम ताका नम ताका रम
ताक धिन तान तेरे ताक तेरे केटे तक

बढ़ के बुतन चिर बी टकर
बढ़ के बुतन चिर बी टकर
हर बुड़ खुदी-काचु कुचकाये
हर बुड़ खुदी-काचु कुचकाये
छिछके छोरेर मोन मोचकाए
छिछके छोरेर मोन मोचकाए
सब चले गए, सब चले गए
चिता गुड़ चितिंग चिता गुड़
खेदी कुचकाए खेदी कुचकाए
खेदी कुचकाए हाय हाय

जा रे जा रे करे कागा
का गा गा क्यों शोर मचाये
उस नारी का दास न बन जो
राह चलत को राह भुलाए
काला रे काला रे जा रे जा रे
कारे नाले में जा के तू मुह धो के आ
काला रे का रे गा रे

पंडित : (ये गड़बड़ जी)
ओ गा रे गा रे
पंडित : (ये सुर बदला)
ओ गा रे गा रे
पंडित : (ये हमको भटका दिया)
ओ गा रे गा रे
ये सुर किधर है जी ये, सुर ये, एन्नाया इधु

एक चतुर नार, हम छोड़ेगा नहीं जी
येक चतुर नार, हम पकड़ के रखेगा जी
मेरे मन के द्वार, ये घुसत जात
हम मरत जात अरे हे हे हे
एक चतुर नार कर के सिंगार

नाच न जाने, आंगन टेढ़ा
तू क्या जाने क्या है नारी
जिस तन लागे मोरे नैना
उसपे सारी दुनिया वारी
नाच ना जाने, आंगन टेढ़ा
टेढ़ा, टेढ़ा टेढ़ा टेढ़ा टेढ़ा
टेढ़ा, टेढ़ा, टेढ़ा, टेढ़ा
ओ टेढ़े (ओय)
ओ केड़े (ओय आ)

अरे सीधे हो जा रे सीधे हो जा रे सीधे हो जा
वाह री चंदनिया वाह रे चकोरे
राम बनाई ये कैसी जोड़ी
करे नचैय्या ता ता थैय्या
ताल पे नाचे लंगड़ी घोड़ी

अरे देखी
अरे देखी तेरी चतुराई
पंडित : (ये फिर गड़बड़)
अरे देखी तेरी चतुराई
पंडित : (फिर भटकाया)
तुझे सुर की समझ नहीं आई
तुने कोरी घास ही खाई
अरे घोड़े
पंडित : (ये घोड़ा बोला)
ओ निगोड़े
पंडित : (ये गाली दिया)
अरे देखी तेरी चतुराई
पंडित : (एक चतुर नार)
घोड़े देखी तेरी चतुराई
पंडित : (एक चतुर नार)
ओ घोड़े देखी तेरी चतुराई
पंडित : (एक चतुर नार कर के)
एक चतुर नार कर के
पंडित : (ए रे घोड़े तेरे)
एक चतुर नार
पंडित : (अय्यो घोड़े तेरे)
ओ एक चतुर नार
(अय्यो घोड़े तेरे)
आ अय्यो घोड़े तेरी
अय्यो घोड़े तेरी
एक चतुर नार, अय्यो घोड़े तेरी
एक चतुरा.. के घोड़ा
ये घोड़ा चतुर, घोड़ा
ये क्या रे घोड़ा-चतुर, घोड़ा-चतुर
येक पे रहना
या घोड़ा बोलना या चतुर बोलना..गा

एक चतुर नार कर के एक
एक चतुर नार बड़ी होशियार
मेरे मन के द्वार ये घुसत जात
अपने ही जाल में फसत जात
हम मरत जात अरे अई अई अई अई
एक चतुर नार, बड़ी होशियार
कर के सिंगार, अपने ही जाल
मेरे मन के द्वार, अरे फसत जात
ये घुसत जात, हम हसत जात
हम मरत जात, मरत जात, मरत जात
सा रे ग म
(ये अटक गया)
प (अय्यो)
ध (अय्यो)
हे हे हे…

Ek Chatur Naar Lyrics in Hindi

Like and Share
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Subscribe for latest updates

Loading